राष्ट्रीय स्तर के बॉक्सिंग खिलाड़ी को बॉक्सिंग प्रतियोगिता से रोक दिया गया क्यूंकि मुस्लिम आस्था के तौर पर उन्होंने दाढ़ी रखी हुई थी। हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार मुम्बई के जीआर पाटिल कॉलेज के बीकॉम के छात्र सय्यद इमरान अली बीते सोमवार को प्रतियोगिता में भाग लेने मैरीन के स्पोर्ट्स पवेलियन पहुंचे।

लेकिन यूनिवर्सिटी अधिकारियों द्वारा इंटरनेशनल अमट्यूर बॉक्सिंग एसोसिएशन के दाढ़ी कटवाने के कानून का हवाला देते हुए रिंग से बाहर कर दिया। मुम्बइ यूनिवर्सिटी के फिजिकल एजुकेशन विभाग के डायरेक्टर उत्तम केंद्र ने बताया की भारतीय बॉक्सिंग में बॉक्सर को मुकाबले से पहले क्लीन शेव होना ज़रूरी है।

इमरान अली ने बताया की उनको इस नियम के बारे में पता नहीं था। इमरान ने बताया की वे पिछले सात साल से राज्य स्तर से लेकर राष्ट्रीय स्तर तक कराटे एवम् टैक्वान्दो, किक-बॉक्सिंग प्रतियोगिता में भाग लेते आ रहे हैं लेकिन उनकी दाढ़ी कभी कोई मुद्दा नहीं रही। इमरान मुम्बई में मार्टिअल आर्ट्स ट्रेनिंग सेंटर भी चलाते हैं

loading...