“जैमी जब 17 वर्ष की थी तो उसके पिता ने उसे घर से निकाल दिया था, जिसके कारण उसे एक सप्ताह एक पुल के नीचे रहना पड़ा।

उस समय वह ‘प्लेबॉय मैगज़ीन’ के लिए मॉडलिंग किया करती थी। फिर उसने शांति की खोज करना शुरू किया और फिर इस्लाम को जाना। अल्लाह को जाना। फिर मुस्लिम हो गयी।”

loading...