loading...

नई दिल्लीः अपने 6,500 शब्द के पोस्ट में फेसबुक सीईओ मार्क जकरबर्ग ने दुनिया के सामने अपने ग्लोबल मिशन को साझा किया. इस पोस्ट में जकरबर्ग ने भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का उदाहरण देते हुए सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर लोगों से जुड़ने की बात कही. साथ ही मोदी सरकार से सोशल मीडिया के इस्तेमाल का ये तरीका लोगों को सीखने की भी नसीहत दी.

इसके साथ ही जकरबर्ग ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी से सीखना चाहिए कि किस तरह सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर हम जनता से जुड़ सकते हैं साथ ही चुने गए प्रतिनिधियों की जनता के प्रति जवाबदेही भी तय की जा सकती है.

अपने नोट में मार्क जकरबर्ग ने लिखा, ”भारत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने मंत्रियों से कहा कि वो सरकार से जुड़ी सारी नीतियों और सारी सूचनाओं को फेसबुक पर शेयर करें जिससे उन्हें जनता से सीधे फीडबैक मिल सके.

नोट में लिखा कि ‘ वोटिंग से परे, हमारे लिए लोगों की मदद करने का सबसे बेहतरीन अवसर होगा कि हम मुद्दों पर लोगों से हर दिन संपर्क स्थापित करें. ऐसा सिर्फ कुछ सालों (चुनाव के दिनों) में ना करके हमेशा कतरते रहने चाहिए. हम सीधे संपर्क से एक संवाद बना सकते है साथ ही नेताओं की जवाबदेही भी तय की जा सकती है.’

इसके साथ ही इस नोट में जकरबर्ग ने एक केन्या के गांव का जिक्र किया जहां गांव के सभी लोग गांव के प्रतिनिधि के साथ व्हाट्सएप ग्रुप के जरिए जुड़े हैं और सीधे संपर्क साध सकते हैं. भारत इस खूबी को बखूबी जानता है.

जकरबर्ग ने ने आगे कहा, ‘1960 के दौर में जिस तरह टेलीविजन सबसे प्राइमरी सोर्स कम्यूनिकेशन का हुआ करता था आज 21वीं सदी में सोशल मीडिया उभर कर आया है.

क्या कुछ लिखा मार्क जकरबर्ग ने यहां पढ़ें

loading...