पूर्व PM डॉ. मनमोहनसिंह का ये विडियो बताता है क्या होती है एक पीएम कि मर्यादा


Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

वैसे हमेशा से ही नरेंद्र मोदी अपने विरोधियों के प्रति घटिया भाषा का इस्तेमाल करते आये है ये उनके लिए कोई नई बात नहीं है। लेकिन नोटबंदी के बाद तो वह इतने ज्यादा बौखला गए है कि, उन्होंने हर मर्यादा को पार कर दिया है। अभी हाल ही में संसद भवन में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह जी जो कि, पूरे देश और पूरी दुनिया में एक जानी-पहचानी शख्सियत है और एक बहुत ही उच्च दर्जे के अर्थशास्त्री भी है। उनके खिलाफ मोदी ने संसद में बहुत ही घटिया बयान दिया था जिसके बाद सोशल मीडिया में देश के लोगों ने मोदी को आड़े हाथों ले लिया। इसके बाद तो ट्विटर पर एक ट्रेंड सा ही चल पड़ा लोग हैश टैग लगाकर #JaahilPMModi ट्रेंड करने लगा। इसके बाद तो देश के लोगों ने मोदी को जाहिल बताकर उसकी औकात बताने लगे।

लोगों ने कुछ ऐसे भी ट्वीट किये थे जिनमें लिखा हुआ था कि, ‘लोगों ने एक अनपढ़-जाहिल ग्वार प्रधानमन्त्री चुन लिया है जो हमेशा लोगों की बेईज्ज़ती करता रहता है।’ मोदी अपनी नाकामयाबी को छिपाने के लिए ऐसी भाषा का इस्तेमाल करने लगा है। जो कि, एक प्रधानमंत्री को तो ऐसी भाषा बिलकुल ही शोभा नहीं देती है। इसके अलावा एक शख्स ने यह भी लिखा कि, ‘मोदी का असली चेहरा सामने आ गया कि, वह ट्रोल करने वाले बकवास लोगों को ही क्यों फॉलो करते है।’ इसके जवाब में एक शख्स ने लिखा कि, ‘मोदी द्वारा बोली गई भाषा एक ट्रोल की तरह ही थी।’ एक शख्स ने ट्वीट में यह भी लिखा डाला कि, ‘मोदी के संसद में दिए गए भाषण को सुनकर मैं शर्म के साथ कहता हूँ कि, मेरा पीएम न सिर्फ मंदबुद्धि है बल्कि बदनीयत भी है।’

देश में अब तक के सबसे नफरत किये जाने वाले प्रधानमंत्री मोदी ने संसद में कहा था कि, ‘बाथरूम में रेनकोट पहनकर नहाने की कला तो सिर्फ डॉक्टर साहब के पास थी।’ लेकिन आज हम आपको बताते है कि, जब मनमोहन सिंह जी प्रधानमंत्री थे और उनके किसी मंत्री ने जब पूर्व प्रधानमंत्री पर टिपण्णी कर दी थी तो किस तरह से सदन में उन्होंने सबके सामने खड़े होकर इसके लिए अपनी तरफ से माफ़ी मांगी थी। प्रसून वाजपेयी जी की ख़ास रिपोर्ट में बताया कि, उनकी भी कई राज्यों में सरकारे है तो क्या उन्होंने भी रेनकोट पहना हुआ नहीं है? प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने मुख्यमंत्रियों फिर चाहे वह वसुंधरा राजे हो या फिर मध्य प्रदेश के शिवराज सिंह चौहान उनके राज्यों में बहुत बड़े घोटाले हुए।

प्रसून वाजपेयी की खास रिपोर्ट में बताया गया कि, वाजपेयी जी का रेनकोट भी बहुत लंबा है। उनके राज में भी कई घोटाले हुए थे, लेकिन फिर भी ऐसी घटिया हरकत और ऐसा घटिया बयान तो मनमोहन सिंह जी ने तो नहीं दिया था। इस विडियो में आज तक की न्यूज़ में आप देख सकते है कि, वसुंधरा के राज में बहुत बड़े घोटाले हुए, इसके अलावा मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के राज में व्यापम जैसे घोटाले हुए जिसके कारण हर परीक्षा और रोजगार को कठघरे में लाकर खड़ा कर दिया। तो अब ये सवाल है कि, मोदी इन मुख्यमंत्रियों को भी रेनकोट पहनाएंगे? मोदी की ऐसी भाषा ने प्रधानमंत्री के पद को ही शर्मसार कर दिया है।

अगले पेज पर जाने के लिए Next बटन क्लिक करें
Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

loading...

log in

Become a part of our community!
Don't have an account?
sign up

reset password

Back to
log in

sign up

Join BoomBox Community

Back to
log in