loading...

New Delhi: आज के इस समय में मोबाइल फोन हर इंसान जरूरी हिस्सा बन गया है। कई लोगों के लिए तो स्मार्टफोन आदत बन गए हैं और मजबूरी भी।

लेकिन कई लोग ऐसे भी होते है जो टॉयलेट में फोन यूज करने की आदत बना लेते है। कुछ लोग तो टॉयलेट में इस समय गेम खेलना पसंद करते हैं, तो कुछ दोस्तों के चैट करते हैं।
अगर आप भी टॉयलेट में स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते है तो अब इससे सावधान हो जाइएं क्योंकि टॉयलेट में फोन का इस्तेमाल करना कई गंभीर बीमारियों को इनविटेशन देता है। एक अध्ययन के मुताबिक जो लोग टॉयलेट में भी अपना फोन ले कर जाते हैं, उनके फोन पर टॉयलेट सीट ले भी ज्यादा कीटाणु मौजूद होते हैं।

जो हमेशा हाथ में रहने वाले फोन के जरिए फैलते हैं। आप टॉयलेट सीट पर हाथ में फोन ले कर बैठते हैं उसके बाद अगर आप अपना हाथ धो भी लेते हैं तो भी उन कीटाणुओं का कुछ नहीं बिगड़ता जो टॉयलेट फ्लश से आप के हाथ और फिर मोबाइल तक पहुंचता है।लेकिन कई लोग ऐसे भी होते है जो टॉयलेट में फोन यूज करने की आदत बना लेते है। कुछ लोग तो टॉयलेट में इस समय गेम खेलना पसंद करते हैं, तो कुछ दोस्तों के चैट करते हैं।

अगर आप भी टॉयलेट में स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते है तो अब इससे सावधान हो जाइएं क्योंकि टॉयलेट में फोन का इस्तेमाल करना कई गंभीर बीमारियों को इनविटेशन देता है। एक अध्ययन के मुताबिक जो लोग टॉयलेट में भी अपना फोन ले कर जाते हैं, उनके फोन पर टॉयलेट सीट ले भी ज्यादा कीटाणु मौजूद होते हैं।

जो हमेशा हाथ में रहने वाले फोन के जरिए फैलते हैं। आप टॉयलेट सीट पर हाथ में फोन ले कर बैठते हैं उसके बाद अगर आप अपना हाथ धो भी लेते हैं तो भी उन कीटाणुओं का कुछ नहीं बिगड़ता जो टॉयलेट फ्लश से आप के हाथ और फिर मोबाइल तक पहुंचता है।

आप के हाथ में मौजूद स्मार्ट फोन वायरस की मनपसंद जगह है क्योंकि फोन से मिलने वाली गर्मी उसे मदद करेंगी जिंदा रहने में। अपके हाथ में लगी मिठाई या कुछ भी हाथ में लिए फोन पर लग जाती है तो वायरस का आप के फोन पर रहना और आसान हो जाता है। बैक्टीरिया और वायरस का फैलना इस बात पर भी निर्भर करता है कि आप कौन सा टॉयलेट यूज करते हैं।

मसलन अगर आप अपने घर का टॉयलेट यूज करते हैं तो उसमें संक्रमण की संभावना कम होती है। अगर किसी हॉस्पिटल या मॉल का टॉयलेट यूज करते हैं तो आप बहुत अधिक बीमार भी हो सकते हैं।

loading...